Skip to toolbar

वैक्सीन विकास की समीक्षा करने के लिए हैदराबाद के भारत बायोटेक सुविधा में पीएम मोदी

हैदराबाद, 28 नवंबर: प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को हैदराबाद में COVID19 वैक्सीन विकास की समीक्षा करने के लिए भारत बायोटेक सुविधा का दौरा किया, क्योंकि उन्होंने चल रहे कोरोनावायरस वैक्सीन विकास कार्यों की समीक्षा के लिए अपनी तीन-शहर की यात्रा शुरू की।

हकीमपेट वायुसेना स्टेशन पर उतरने के बाद, उनका स्वागत तेलंगाना के मुख्य सचिव सोमेश कुमार, पुलिस महानिदेशक और अन्य अधिकारियों ने किया। अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने जीनोम घाटी स्थित भारत बायोटेक की सुविधा का दौरा किया, जो एएफ बेस से लगभग 20 किमी दूर लाइफ साइंसेज क्लस्टर है।

यह भी देखे-https://newssarkarinaukri.com/

वैक्सीन विकास की समीक्षा करने के लिए हैदराबाद में भारत बायोटेक सुविधा में पीएम मोदी

कोविद -19 वैक्सीन, कोवाक्सिन, जिसे भारत बायोटेक द्वारा भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी के सहयोग से विकसित किया जा रहा है, अब चरण -3 के परीक्षणों के अधीन है।

पीएम मोदी

वैक्सीन को विकसित किया जा रहा है और इसे हैदराबाद में जीनोम घाटी में भारत बायोटेक के बीएसएल -3 (बायो-सेफ्टी लेवल 3) सुविधा में निर्मित किया जाएगा। अधिकारियों ने कहा कि मोदी शहर के वैक्सीन निर्माता और वरिष्ठ प्रबंधन के साथ कोवाक्सिन की स्थिति के बारे में बातचीत करेंगे।

यह भी देखे-https://newssarkarinaukri.com/

पीएम पुणे में एक ठहराव के बाद राष्ट्रीय राजधानी के लिए उड़ान भरेंगे, जहां वह सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) का दौरा करेंगे, जिसने फार्मा की दिग्गज कंपनी एस्ट्राजेनेका और टीके के लिए ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के साथ भागीदारी की है

 

PM मोदी ने किया Zydus Cadila प्लांट का दौरा | अगला पड़ाव हैदराबाद, पुणे | Digital Khabri

इससे पहले सुबह में, मोदी ने अहमदाबाद के पास ज़ाइडस कैडिला के संयंत्र का दौरा किया।

Source link

तेजस्वी यादव का ट्वीट, बिहार में अपराधियों की बहार, गोलियों की बौछार, सरकार मौन क्यों है

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव ने कानून व्यवस्था को लेकर राज्य सरकार पर हमला बोला है। रविवार को किए गए अपने ट्वीट में तेजस्वी ने आरोप लगाया है कि बिहार में अपराधियों की बहार, गेंदों की सोवियत और कब्जों पर कहर के साथ ही महाजंगलराज का हाहकार है

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि चहुं ओर अराजक और माहौल माहौल बन गया है। विधि व्यवस्था समाप्त हो गई है। आरोप लगाया गया कि डबल इंजन ट्रेन में बैठे मुख्यमंत्री उतर, लाचार, बेबस और असहाय हैं। महाजंगलराज के महाराज मौन क्यों हैं? एक अन्य ट्वीट में तेजस्वी ने कहा कि अगर आप तर्क, तथ्य और सत्य के साथ सवाल करते हैं तो सरकार को नाराज आना लाजमी है। कहा कि इस सरकार को जनहित और रोजी-रोटी के मुद्दों पर हम सड़क से लेकर सदन तक घेरते रहेंगे।

यह भी पढ़े: ITR Filling: ध्यान में रखने के लिए महत्वपूर्ण तारीख

प्रतिद्वंद्वी हुई ज़ीयू, कहा- अपनी राजनीति को डूबता देख डर गए हैं तेजस्वी
प्रदेश जदयू के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने आरोप लगाया है कि विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव डिरेल हो गए हैं। उनकी अकुलाहट, बेचैनी, गाली-गलौज की भाषा इसलिए है क्योंकि उनकी राजनीति को डूबता देख वे डर गए।) जब कोई डरता है तो उसकी भाषा ऐसी ही बिगड़ती है। देखिएगा कही ये आपके बोल आपको डुबो ना दें। वैसे भी आप चार्टशीटेड हैं। दावा किया कि अपने पिता की तरह आप भी बड़े घर में जाने की तैयारी में हैं।

यह भी पढ़े: Muzaffarpur: पताही में बने COVID केयर हॉस्पिटल का ३ महीने का बिजली बिल आया 40 लाख

नीतीश राज में अपराधियों के हौसले बुलंद: कांग्रेस
कांग्रेस प्रवक्ता राजेश राठौड़ ने आरोप लगाया है कि नीतीश कुमार के राज में अपराधियों के हौसले बुलंद हो गए हैं। बिहार में पुलिस व्यवस्था धराशायी हो गयी है। अखबारों में पुलिस द्वारा सेवा वाहन को धक्का मारते छपी तस्वीर वर्तमान व्यवस्था को बताने को काफी है। एनसीआरबी द्वारा जारी आंकड़ों के हवाले से दावा किया गया है कि पानी को लेकर विवाद में बिहार में सबसे ज्यादा हत्याएं हो रही हैं। इससे ये स्पष्ट होता है कि पानी जैसी बुनियादी सुविधाएं भी सरकार मुहैया करा पाने में असमर्थ है।


Source link

पूर्व सांसद आनंद मोहन को चुनाव के बाद फिर से भागलपुर केंद्रीय करा से सहरसा जेल शिफ्ट कर दिया गया है

बिहार विधानसभा चुनाव के समय सहरसा जेल से भागलपुर केंद्रीय जेल भेजे गए बाहुबली पूर्व सांसद आनंद मोहन को वापस सहरसा जेल भेज दिया गया है। रविवार की अल सुबह उन्हें विशेष केंद्रीय कारा से सहरसा वापस भेजा गया। दो महीने के लिए पूर्व बाहुबली सांसद को बीते 21 अक्टूबर को सहरसा जेल से भागलपुर लाया गया था।

आपको बता दें कि बिहार चुनाव 2020 में राजद की आरक्षण ग्रहण करने के बाद बाहुबली और पूर्व सांसद आनंद मोहन की पत्नी लवली आनंद को सहरसा विधानसभा सीट और बेटे चेतन आनंद को शिवहर विधानसभा सीट से राजद ने अपना कैंडिडेट बनाया था। इसके बाद प्रशासनिक आधार पर बाहुबली सांसद को 21 अक्टूबर को भागलपुर शिफ्ट किया गया था। भागलपुर विशेष केंद्रीय कारा के अतिसुरक्षित तृतीय खंड में बंद अन्य बंदियों के साथ उन्हें रखा गया था।

यह भी पढ़े :-फ्रांस में भारी मात्रा सुरक्षा बल तैनात: बिल पर विरोध प्रदर्शन

बाहुबली नेता आनंद आनंद मोहन ने अन्न छोड़ दिया था
वहीं सहरसा जेल से भागलपुर विशेष केंद्रीय कारा शिफ्ट किए जाने से नाराज पूर्व सांसद व बाहुबली नेता आनंद आनंद मोहन ने अन्न छोड़ दिया। नाराज आनंद मोहन ने जेल आईजी को पत्र लिखकर राजनीतिक द्वेष के कारण प्रेषित का आरोप लगाया था। इस दौरान उन्होंने सहरसा जेल भेजे जाने तक अन्न ग्रहण नहीं करने का ऐलान कर दिया था। वे सिर्फ नींबू-पानी ले रहे थे

यह भी पढ़े :-बिहार में 713 नए कोरोना पॉजिटिव मिले, संकरमितो की संख्या 2,34,553 और मृतकों का आंकड़ा 1200 पर पहुंचा

हालांकि 18 दिन बाद जेल प्रशासन के जश्न के बाद उन्होंने अन्न लेना शुरू कर दिया था। इसके बाद 10 नवंबर को चुनाव रिजल्ट आने के बाद आनंद मोहन की पत्नी लवली आनंद और उनकी बेटी ने विशेष केंद्रीय आकर उनसे मुलाकात की और स्वास्थ्य के बारे में जेल प्रशासन से बात की। बीते 17 नवंबर को बाहुबली सांसद आनंद मोहन ने पेरोल के लिए आवेदन दिया था।

बिहार चुनाव में पत्नी लवली आनंद हारीं तो बेटा चेतन आनंद जीते
आपको बता दें कि बिहार चुनाव 2020 के बेटे चेतन आनंद को पूर्व सांसद आनंद मोहन की पत्नी और सहरसा विधानसभा सीट से राजद उम्मीदवार लवली आनंद हार गए थे वहीं शिवहर विधानसभा सीट से राजद कैंडिडेट चेतन आनंद की जीत हुई थी

Source link

बिहार में 713 नए कोरोना पॉजिटिव मिले, संकरमितो की संख्या 2,34,553 और मृतकों का आंकड़ा 1200 पर पहुंचा

बिहार में 713 नए कोरोनाटेन्स की पहचान शनिवार को हुई और पांच चेतों के इलाज के दौरान मौत हो गयी। इसके साथ ही राज्य में कोरोनाटेन्स की संख्या 2,34,553 से ऊपर और मृतकों की संख्या 1253 हो गई। राज्य में वर्तमान में कोरोना के कुल 5585 सक्रिय रोगी है जिनका इलाज किया जा रहा है।

पटना में सबसे ज्यादा 267 नए लोग मिले
स्वास्थ्य विभाग के अनुसार पटना में सबसे अधिक 267 नए कोरोनाटेन्स की पहचान की गयी। जबकि 22 जिलों में दस से भी कम कोरोनाशक्तिओं की पहचान की गयी।

ये भी पढ़े :-बिहार में धान खरीद के लिए पैक्सों को 1120 करोड़ रुपये दिया गया # Digital Khabri

24 घंटे में 668 प्रकार स्वस्थ हो गए
पिछले 24 घंटे में राज्य में 668 रोगियों के इलाज के बाद स्वस्थ हो गए। राज्य में अबतक 2,27,714 स्वस्थ हो चुके हैं। राज्य में कोरोना शरीनों के स्वस्थ होने की दर 97.08 प्रति रही।

1,36,770 सैंपल की हुई जांच
राज्य में एक दिन में 1,36,770 सैंपल की कोरोना जांच की गयी। अबतक राज्य में कुल 1,44,12,044 सैंपल की कोरोना जांच की जा चुकी है

बिहार में धान खरीद के लिए पैक्सों को 1120 करोड़ रुपये दिया गया # Digital Khabri

बिहार में धान खरीद का अभियान गत वर्ष से आगे चल रहा है। पिछले साल अब तक खरीद शुरू नहीं हुई थी, जबकि इस बार सहकारिता विभाग ने प्रक्रिया पूरी कर ली है। साथ ही चार जिलों में किसानों से खरीद शुरू भी हो गई है। सरकार ने पैक्सों को पैसा दे दिया और किसानों का निबंधन भी तेजी से होने लगा।

राज्य सराकर ने तीस लाख टन धान खरीदने का लक्ष्य तय किया है। इतनी खरीद होती है तो लगभग 5500 करोड़ रुपये किसानों को महंगीौर मिल मिलेंगे। सरकार ने इसे 40 प्रतिशत पैसा मंजूर कर दिया, लेकिन पैक्सों को अभी भी लगभग 1120 करोड़ यानी 20 प्रतिशत का ही कैश क्रेडिट (सीसी) सीमा दी गयी है। पूरे पैसे का सीमा इसलिए अभी तक नहीं दी गई है कि पैक्सों को ज्यादा नहीं देना पड़ेगा। जैसे-जैसे वह खर्च करेगा बढ़ती इच्छा को सीमित कर देगा।

सहकारिता विभाग में धान बेचने के लिए अब तक 72 हजार किसानों ने निबंधन कराया है। धान की कटनी के साथ ही किसानों के निबंधन की गति भी तेज हो गई है। गत वर्ष इस समय तक केवल 20 हजार 226 किसानों ने ही निबंधन कराया था। हालांकि इस वर्ष विभाग ने निबंधन की प्रक्रिया भी पहले शुरू कर दी थी। इसका लाभ किसानों को मिला है।

4000 रन्सियों का हुआ चयन
धान खरीद के लिए हर जिले में पैक्सों का चयन किया गया है। सभी जिलों में लगभग चार हजार समितियों का चयन हो चुका है। इन समितियों में लगभग 2500 की मैपिंग भी पोर्टल पर कर दी गई है। जिन समितियों की मैपिंग हो गयी है वह धान खरीद के लिए स्वतंत्र हो गए हैं।

चार जिलों में हुई बोहनी
चार जिले के किसानों ने धान खरीद की बोहनी कर दी है। भोजपुर, बक्सर, नालंदा और मुंगेर जिलों में लगभग 18 किसानों ने धान बेचा है। इन किसानों से अब तक 107 टन धान की खरीद हुई है। दूसरे अन्य जिले के जिन किसानों का धान तैयार है, जिन्सियों की खरीद कर रहे हैं।

अधिक नमी की समस्या है
किसानों की बड़ी समस्या धान में नमी का अधिक होना है। जिन किसानों ने धान सुखा लिखा है। उनमें से कोई पेरशानी नहीं हो रही है, लेकिन ऐसे किसानों की संख्या बहुत कम है। उनके पास सुखाने के लिए जगह नहीं है। सरकार 17 प्रतिशत तक नमी वाला धान ही खरीदती है, जबकि अभी धान में 20 से 22 प्रतिशत तक नमी है।

Source: हिंदुस्तान समाचार

सांसद और एमएलसी के नाम पर सीमेंट गबन में दो गिरफ्तार

सांसद व एमएलसी के नाम पर दो हजार बोरा सीमेंट गबन करने के आरोप में दो दुकानदारों को शुक्रवार की रात गिरफ्तार किया गया है। बेला थाने की पुलिस ने पुराने बाजार से कारोबारी गौतम कुमार व संतोष कुमार को दबोचा

शनिवार को दोनों को कोर्ट में पेश कर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। थानेदार धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि मुख्य सलाहकार मो। परवेज छापेमारी की भनक लगने पर फरार हो गया।

बीते एक सितंबर को सीतामढ़ी के परिहार चौक निवासी सीमेंट-छड़ व्यवसाय इंद्रकांत झा ने बेला थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी। इसमें बताया गया कि सांसद और एमएलसी के नाम पर 24 जून 2020 को कॉल कर उनके साथ जालसाजी की गई।

आरोपितों ने दो हजार बोरा सीमेंट नारायणपुर स्थित कंपनी के गोदाम से उठाकर अलग-अलग एचपी दुकानदार को बेच दिया था। तय समय के अंदर जब व्यवसाय इंद्रकांत झा को पेमेंट नहीं पहुंचे तो उन्होंने छानबीन शुरू की। तब ठगी की जानकारी हुई। बता दें कि बेला थाने के तत्कालीन थानेदार रमेश मिश्रा ने घटना के बाद पुराने बाजार में छापेमारी करके 300 बोरा सीमेंट बरामद किया था

Source:- हिंस्दुस्तान समाचार

लखनऊ: यूपी के गवर्नर ने लव जिहाद अध्यादेश को मंजूरी दी: कानून क्या कहता है जाने आप भी !

लखनऊ : उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने शनिवार को यूपी निषेध धर्म परिवर्तन अध्यादेश 2020 को अवैध ठहराया

उत्तर प्रदेश सरकार ने मंगलवार को शादी के लिए धर्म परिवर्तन से निपटने के लिए एक कड़े कानून के मसौदे को मंजूरी दी, जिसे भाजपा नेता “लव जिहाद” के रूप में संदर्भित करते हैं।

ये भी पढ़े:- बिहार में धान खरीद के लिए 4000 एजेंसियों का चयन #Digital Khabri # Local for Vocal

एक आधिकारिक प्रवक्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में अध्यादेश को मंजूरी दी गई

यूपी कैबिनेट ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय द्वारा व्यक्तियों की पसंद की स्वतंत्रता के अधिकार को बरकरार रखने के कुछ ही समय बाद 24 नवंबर को अध्यादेश को मंजूरी दे दी और अपने स्वयं के पहले के आदेश को रद्द कर दिया, जिसमें यह कहा था कि शादी के लिए रूपांतरण स्वीकार्य नहीं था

Source link

बिहार में धान खरीद के लिए 4000 एजेंसियों का चयन #Digital Khabri # Local for Vocal

बिहार में धान खरीद सहकारिता विभाग ने प्रक्रिया पूरी कर ली है। धान खरीद के लिए जहां 4000 एजेंसियों का चयन किया गया है वहीं बिक्री के लिए अब तक 72 हजार किसानों ने निबंधन कराया है। इसके साथ ही चार जिलों में किसानों से खरीद शुरू भी हो गई है। सरकार ने पैक्सों को पैसा दे दिया और किसानों का निबंधन भी तेजी से होने लगा।

राज्य सराकर ने तीस लाख टन धान खरीदने का लक्ष्य तय किया है। इतनी खरीद होती है तो लगभग 5500 करोड़ रुपये किसानों को महंगीौर मिल मिलेंगे सरकार ने इसे 40 प्रतिशत पैसा मंजूर कर दिया, लेकिन पैक्सों को अभी भी लगभग 1120 करोड़ यानी 20 प्रतिशत का ही कैश क्रेडिट (सीसी) सीमा दी गयी है। पूरे पैसे का सीमा इसलिए अभी तक नहीं दी गई है कि पैक्सों को ज्यादा नहीं देना पड़ेगा। जैसे-जैसे वह खर्च करेगा बढ़ती इच्छा को सीमित कर देगा।

सहकारिता विभाग में धान बेचने के लिए अब तक 72 हजार किसानों ने निबंधन कराया है। धान की कटनी के साथ ही किसानों के निबंधन की गति भी तेज हो गई है। गत वर्ष इस समय तक केवल 20 हजार 226 किसानों ने ही निबंधन कराया था। हालांकि इस वर्ष विभाग ने निबंधन की प्रक्रिया भी पहले शुरू कर दी थी। इसका लाभ किसानों को मिला है।

ये भी पढ़े:-कर्नाटक के मुख्यमंत्री: बीएस येदियुरप्पा होने का महत्व क्या है जाने राजनीती विश्लेषकों से

4000 एजेंसियों का चयन
धान खरीद के लिए हर जिले में पैक्सों का चयन किया गया है। सभी जिलों में लगभग चार हजार समितियों का चयन हो चुका है। इन समितियों में लगभग 2500 की मैपिंग भी पोर्टल पर कर दी गई है। जिन समितियों की मैपिंग हो गयी है वह धान खरीद के लिए स्वतंत्र हो गए हैं।

चार जिलों में हुई बोहनी
चार जिले के किसानों ने धान खरीद की बोहनी कर दी है। भोजपुर, बक्सर, नालंदा और मुंगेर जिलों में लगभग 18 किसानों ने धान बेचा है। इन किसानों से अब तक 107 टन धान की खरीद हुई है। दूसरे अन्य जिले के जिन किसानों का धान तैयार है, जिन्सियों की खरीद कर रहे हैं।

अधिक नमी की समस्या है
किसानों की बड़ी समस्या धान में नमी का अधिक होना है। जिन किसानों ने धान सुखा लिखा है। उनमें से कोई पेरशानी नहीं हो रही है, लेकिन ऐसे किसानों की संख्या बहुत कम है। उनके पास सुखाने के लिए जगह नहीं है। सरकार 17 प्रतिशत तक नमी वाला धान ही खरीदती है, जबकि अभी धान में 20 से 22 प्रतिशत तक नमी है

Source: हिंस्दुस्तान समाचार

लालू ने महादलित विधायक को धोखा दिया, जरूरत पड़ी तो सीबीआई जांच की मांग करेंगे- डिप्टी सी.एम.

बिहार के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा है कि राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने एक महादलित विधायक को धमकाया है। डिप्टी सीएम ने झारखंड सरकार पर भी सवाल उठाया और कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो हम सीबीआई जांच की मांग करेंगे।

चारा लेखन में पर्यटनफ्ता बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव वर्तमान में जेल की सजा काट रहे हैं। बीमारी के कारण उन्हें रांची के रिम्स निदेशक के बंगला में रखा गया है। कोरोना काल में उन्हें रिम्स अस्पताल के पेइंग वार्ड से यहां शिफ्ट किया गया था।

बता दें कि बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम और बीजेपी के दिग्गज नेता सुशील मोदी ने एक नंबर शेयर करते हुए आरोप लगाया है कि लालू प्रसाद यादव रांची से एनडीए के विधायकों को तोड़ने के लिए कॉल कर रहे हैं और उन्हें मंत्री पद के लालच दे रहे हैं। । सुशील मोदी ने अपने दावों के पक्ष में एक अड भी शेयर किया है। इसके मुताबिक, लालू यादव बीजेपी विधायक ललन पासवान से बिहार विधानसभा अध्यक्ष पद के चुनाव में महागठबंधन का साथ देने के लिए कह रहे हैं। ऑड के मुताबिक, लालू कहते हैं कि बोल दो कोरोना हो गया है और अबसेंट हो जाओ

इस पूरे प्रकरण पर बीजेपी विधायक ललन पासवान ने कहा कि लालू जी का फोन आया था तो मेरे पीए ने फोन उठाया था। हमने उन्हें चरणबद्ध किया। मुझे लगा con के लिए फ़ोन किया है। वे कहने लगे कि स्पीकर को गिराना है, तत्काल गिराना है। हमने ऐसा करने से मना कर दिया। पासवान ने कहा कि जब लालू का फोन आया तब वह सुशील मोदी के आवास पर बैठे थे।

Source:-हिंदुस्तान समाचार 

बिहार स्पीकर चुनाव को लेकर MLA को फोन के मामले में लालू यादव के खिलाफ PIL दाखिल करेगा BJP

बिहार विधानसभा अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए रांची से लालू के भाजपा विधायक को कथित तौर पर फोन करने को लेकर बवाल थमता नजर नहीं आ रहा है। इस सियासी बवाल के बाद भाजपा ने उन्हें कोटवार जेल भेजने की मांग कर रही है। वहीं भाजपा मामले को लेकर रांची हाईकोर्ट में पीआईएल दाखिल करेगी। बिहार भाजपा के अध्यक्ष संजय जायवाल ने कहा कि लालू के फोन मामले में भाजपा रांची उच्च न्यायालय में पीआईएल दाखिल करेगी।

यह भी पढ़े :-आईसीसी पूर्ण नामांकन सूची | ICC ने विराट कोहली, रविचंद्रन अश्विन को मेकड अवार्ड के मेन्स प्लेयर के लिए नामित किया

उधर भाजपा नेता नीरज कुमार बबलू ने लालू को तुरंत ही तिहाड़ जेल भेजने की मांग करते हुए पूरे मामले की सीबीआई जांच किए जाने की मांग कर दी है। मामले में भागलपुर की पीरपांती सीट से चुनकर आए ललन पासवान ने ऑड के आधार पर दावा किया कि लालू यादव ने उन्हेंने फोन कर मंत्री पद का प्रस्ताव देते हुए सरकार गिराने की बात कही। हालांकि उन्होंने यह प्रस्ताव ठुकरा दिया। ललन पासवान के अनुसार संयोग से उनहें लालू यादव का फोन तब आया जब वह पूर्व उपमुखिया मंत्री सुशील मोदी के आवास पर बैठे थे। भाजपा विधायक ने कहा कि फोन के बारे में उन्होंने पार्टी के बड़े नेताओं को जानकारी दे दी है।

सुशील मोदी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक ऑड जारी किया है और इसमें उन्होंने दावा किया है कि लालू प्रसाद यादव ने जेल से भाजपा विधायक ललन पासवान को फोन किया और उन्हें मंत्री पद का लालच दिया। सुशील मोदी की ओर से जो ऑड जारी किया गया है, उसमें लालू प्रसाद यादव की आवाज सुनाई दे रही है। हालांकि, आवाज लालू प्रसाद यादव की है या नहीं, यह ऑड सही है या नहीं, इसकी पुष्टि (लाइव हिन्दुस्तान) करती है।

 

आपको बता दें कि भाजपा नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने मोबाइल नंबर शेयर करते हुए रांची की जेल में सजा काट रहे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह फोन कर एनडीए विधायकों को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि लालू एनडीए के विधायकों को मंत्री बनाने तक का प्रस्ताव दे रहे हैं। इसको लेकर उन्होंने ट्वीट भी किया था।

 

Source:
#हिंदुस्तान समाचार#  

Advertisements