शिक्षा के बजट में कटौती से छात्रों में निराशा है

शिक्षा के बजट में कटौती से छात्रों में निराशा है

एलएस कॉलेज के बीएमसी विभाग में साप्ताहिक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इसका विषय ‘2021-22 में शिक्षा था। संचालन द्वितीय वर्ष के छात्र आदर्श कुमार ने किया। इसमें प्रथम वर्ष के छात्र अनिकेत कुमार ने कहा कि वर्ष 2020 में कोरोना महामारी के कारण शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह से ठप थी गयी थी। इस साल बजट आने से पहले उम्मीद थी कि इस बार शिक्षा के लिए कुछ खास होगा। लेकिन, परिणाम ठीक इसके विपरीत आया। शिक्षा के बजट को पिछली बार से घट दिया गया है।

वहीं, तृतीय वर्ष की छात्रा सौम्या स्वराज ने कहा कि बजट के आंकड़े तो बदलते रहते हैं, लेकिन हमारा विकास तब होगा, जब भस्त्रचार खत्म होगा। ज्यादातर छात्र शिक्षा के बजट में कटौती से काफी नाराज थे। विभाग के निदेशक राजेश्वर परसर ने कहा कि साप्ताहिक संगोष्ठी में छात्रों ने बढ़ चढ़कर भाग लिया है। प्राचार्य डॉ। ओपी राय ने कहा कि इस तरह की संगोष्ठी के माध्यम से एक नई शुरुआत हो रही है। बीएमसी विभाग में हर शनिवार को अलग-अलग विषयों पर संगोष्ठी होगी। मौके पर डॉ। वीरेंद्र कुमार, डॉ। ललित किशोर, मनोज सिंह, चंचल कुमारी, सुंदरम कुमार, गोविंद कुमार, सेजल कुमारी, आरती कुमारी, सादिया तबस्सुम, प्रशांत तिवारी, ऋषिकेश कुमार, नेहा कुमारी, अमित किशन आदि थे।

Source hyperlink

 

 

 

One thought on “शिक्षा के बजट में कटौती से छात्रों में निराशा है

  1. Pingback:संयुक्त सचिव व निदेशक के पदों के लिए लैटरल इंट्री, तेजस्वी बोले- यह असंवैधानिक कदम है / Digital Khabri (The Ultimate Lo

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *