बिहार में धान खरीद के लिए 4000 एजेंसियों का चयन #Digital Khabri # Local for Vocal

बिहार में धान खरीद के लिए 4000 एजेंसियों का चयन #Digital Khabri # Local for Vocal

बिहार में धान खरीद सहकारिता विभाग ने प्रक्रिया पूरी कर ली है। धान खरीद के लिए जहां 4000 एजेंसियों का चयन किया गया है वहीं बिक्री के लिए अब तक 72 हजार किसानों ने निबंधन कराया है। इसके साथ ही चार जिलों में किसानों से खरीद शुरू भी हो गई है। सरकार ने पैक्सों को पैसा दे दिया और किसानों का निबंधन भी तेजी से होने लगा।

राज्य सराकर ने तीस लाख टन धान खरीदने का लक्ष्य तय किया है। इतनी खरीद होती है तो लगभग 5500 करोड़ रुपये किसानों को महंगीौर मिल मिलेंगे सरकार ने इसे 40 प्रतिशत पैसा मंजूर कर दिया, लेकिन पैक्सों को अभी भी लगभग 1120 करोड़ यानी 20 प्रतिशत का ही कैश क्रेडिट (सीसी) सीमा दी गयी है। पूरे पैसे का सीमा इसलिए अभी तक नहीं दी गई है कि पैक्सों को ज्यादा नहीं देना पड़ेगा। जैसे-जैसे वह खर्च करेगा बढ़ती इच्छा को सीमित कर देगा।

सहकारिता विभाग में धान बेचने के लिए अब तक 72 हजार किसानों ने निबंधन कराया है। धान की कटनी के साथ ही किसानों के निबंधन की गति भी तेज हो गई है। गत वर्ष इस समय तक केवल 20 हजार 226 किसानों ने ही निबंधन कराया था। हालांकि इस वर्ष विभाग ने निबंधन की प्रक्रिया भी पहले शुरू कर दी थी। इसका लाभ किसानों को मिला है।

ये भी पढ़े:-कर्नाटक के मुख्यमंत्री: बीएस येदियुरप्पा होने का महत्व क्या है जाने राजनीती विश्लेषकों से

4000 एजेंसियों का चयन
धान खरीद के लिए हर जिले में पैक्सों का चयन किया गया है। सभी जिलों में लगभग चार हजार समितियों का चयन हो चुका है। इन समितियों में लगभग 2500 की मैपिंग भी पोर्टल पर कर दी गई है। जिन समितियों की मैपिंग हो गयी है वह धान खरीद के लिए स्वतंत्र हो गए हैं।

चार जिलों में हुई बोहनी
चार जिले के किसानों ने धान खरीद की बोहनी कर दी है। भोजपुर, बक्सर, नालंदा और मुंगेर जिलों में लगभग 18 किसानों ने धान बेचा है। इन किसानों से अब तक 107 टन धान की खरीद हुई है। दूसरे अन्य जिले के जिन किसानों का धान तैयार है, जिन्सियों की खरीद कर रहे हैं।

अधिक नमी की समस्या है
किसानों की बड़ी समस्या धान में नमी का अधिक होना है। जिन किसानों ने धान सुखा लिखा है। उनमें से कोई पेरशानी नहीं हो रही है, लेकिन ऐसे किसानों की संख्या बहुत कम है। उनके पास सुखाने के लिए जगह नहीं है। सरकार 17 प्रतिशत तक नमी वाला धान ही खरीदती है, जबकि अभी धान में 20 से 22 प्रतिशत तक नमी है

Source: हिंस्दुस्तान समाचार

One thought on “बिहार में धान खरीद के लिए 4000 एजेंसियों का चयन #Digital Khabri # Local for Vocal

  1. Pingback:लखनऊ: यूपी के गवर्नर ने लव जिहाद अध्यादेश को मंजूरी दीI कानून क्या कहता है जाने आप भी !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *