बिहार: कोरोना की दूसरी लहर को लेकर विभाग की समीक्षा, हर जिले में टेस्ट बढ़ाने का आदेश

बिहार: कोरोना की दूसरी लहर को लेकर विभाग की समीक्षा, हर जिले में टेस्ट बढ़ाने का आदेश

देश के कई हिस्सों में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर को लेकर बिहार में भी अधिकारियों को चेतावनी दी गई है। सोमवार को मुख्य सचिव दीपक कुमार ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी जिलों को कोरोना संक्रमण को लेकर आगाह किया है। सभी जिलों को टेस्टिंग बढ़ाने, कोविड कैर सेंटर को क्रियाशील रखने व फेस व सामाजिक दूरी पर सख्ती के निर्देश दिए गए हैं। अभियान उपयोग का अनुपालन किए जाने से अभियान चलाने के लिए कहा है।

इसके साथ ही सभी जिलों को टेस्ट की संख्या बढ़ाने का आदेश दिया गया है। इसके आलोक में डीएम डॉ। चंद्रशेखर सिंह ने कहा है कि अगले 15 दिन बेहद महत्वपूर्ण हैं। इस कारण इस अवधि की विशेष कार्ययोजना बनाई गई है। कोविड टास्क फोर्स को इस दौरान पूरी तरह तैयार रहने को कहा गया है।

छठ पर्व पर आये प्रवासियों और उनके लौटने के क्रम में स्वास्थ्य विभाग ने विशेष एहतियात के निर्देश जारी किए हैं। जिला प्रशासन को पूर्व में चिह्नित सभी को विभाजित कैर सेंटर को सक्रिय रखने का आदेश दिया गया है। पताही को विभाजित अस्पताल में अब भी 40 रोगी भर्ती हैं, बाकी के लिए सभी उपकरण व बिस्तर को तैयार कर लिया गया है। एसकेमएमसीएच की समीक्षा में यह बात सामने आयी है कि केवल आठ रोगी ही भर्ती हैं। ये दोनों अस्पताल के अलावा सभी को विभाजित कैर सेंटर की एक बार फिर समीक्षा की गई है। स्वास्थ्य विभाग ने सूबे के सभी केंद्र की क्षमता के अनुसार, बिस्तर, ऑक्सीजन और अन्य उपकरण तैयार रखने का आदेश दिया है।

यह भी पढ़ें: राजद ने पूछा- सीएम नीतीश कुमार के नवरत्नों में अपराधी और भ्रष्टाचारी ही क्यों हैं?

डीएम ने बताया कि पांच दिसंबर तक के लिए विशेष कार्ययोजना बनायी गई है। इसके तहत जिले में टेस्ट की निर्धारित संख्या बढ़ाकर छह हजार कर दी गई है। यह सुनिश्चित किया गया कि पांच दिसंबर तक अब हर दिन कम से कम छह हजार टेस्ट संभव हो सकते हैं।

इसके अलावा मुख की जांच को लेकर जो शिथिलता बरती जा रही है, उसपर कड़ा निर्देश दिया गया है। दुकान, बाजार और वाहनों में स्पर्श लगाकर न चलने वालों पर तुमसे किया जाएगा और सभी एहतियाती कदम उठाए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि दिवाली व छठ के दौरान बड़ी संख्या में लोग बाहर से लौटे हैं और फिर वे बाहर जाने को तैयार हैं। उनकी जांच आवश्यक है और यह कोशिश की जा रही है कि सभी की जांच कर ली जाए और उनका कांटेक्ट लिस्ट भी तैयार हो जाए। स्वास्थ्य विभाग, पुलिस, निगम और जिला प्रशासन इस अभियान में मिलकर काम करेंगे।

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार इसके लिए सभी सिविल सर्जन को आदेश दिया गया है कि वे अपनी तरफ से पूरी तैयारी रखें और किसी भी आपदा की स्थिति के लिए सभी व्यवस्था पहले से कर लें। स्वास्थ्य विभाग को पूर्व की तरह जिलों में निर्धारित पीएचसी और अस्पतालों के अलावा लोगों की आवाजाही वाले स्थलों पर भी शिविर लगाकर जांच करने का आदेश दिया गया है।

अगले 15 दिन बेहद संवेदनशील हैं। सभी सामाजिक दूरी बनाये रखें, संकाय का उपयोग करें और आवश्यकता समझें तो जांच जरूर करें। हम सतर्कता से ही इस संक्रमण से बच सकते हैं। जिला प्रशासन ने पूरी तैयारी कर रखी है, जिसमें सभी का सहयोग आवश्यक है।
-डॉ। चंद्रशेखर सिंह, डीएम, मुजफ्फरपुर

One thought on “बिहार: कोरोना की दूसरी लहर को लेकर विभाग की समीक्षा, हर जिले में टेस्ट बढ़ाने का आदेश

  1. Pingback:17 वीं बिहार विधानसभा का पांच दिवसीय पहला सत्र आज से, पांच भाषाओं में शपथ ले सकता है सदस्य / Digital Khabri

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *