एक दूसरे की मदद करना ही इस्लाम का पैगाम

एक दूसरे की मदद करना ही इस्लाम का पैगाम

माह-ए-रमजान का दूसरा अशरा मगफिरत का है। इसमें अकीदतमंद अल्लाह से अपने गुनाहों की माफी मांगते है। कहा जाता है कि इस दूसरे अशरे के 10 दिन में …।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *